टोल फ्री
1800114000 OR 14404

समय: राष्ट्रीय अवकाश को छोड़कर सभी दिन(09:30 प्रात से 05:30 मध्याह्न तक )


उपभोक्ता सहायता पोर्टल (संस्करण 2.1)
आईएमपीएस एक परिवर्तनात्मआक वास्तऔविक समय भुगतान सेवा है जो चौ‍बीस घंटे उपलब्धे है । यह सेवा भारतीय राष्ट्री य भुगतान संघ के द्वारा दी जाती है जो पूरे भारत में आरबीआई के प्राधिकृत प्रीपेड भुगतान इंस्ट्रू मेंट जारीकर्ताओं (पीपीआई) और बैंकों के जरिए त्वीरित रूप से धनराशि अंतरण करने के लिए ग्राहकों को समर्थ बनाती है।

·         तात्‍कालिक

·         24X7 (छुट्टियों में भी कार्यरत)

·         सुरक्षित और संरक्षित, आसानी से उपलब्‍ध और लागत प्रभावी

·         एसएमएस द्वारा डेबिट और क्रेडिट पुष्टिकरण 

·         तात्‍कालिक

·         24X7 (छुट्टियों में भी कार्यरत)

·         सुरक्षित और संरक्षित, आसानी से उपलब्‍ध और लागत प्रभावी

·         एसएमएस द्वारा डेबिट और क्रेडिट पुष्टिकरण 

·         निधि अंतरण और प्रेषण

1.    धनराशि भेजना

2.    धनराशि प्राप्‍त करना 

क्‍यूएसएएम (आधार मैपर पर पूछताछ सेवा) – यह सेवा प्रयोक्‍ता को उनके बैंक खाते के साथ उनकी आधार सीडिंग संबंधी स्थिति जानने में सहायता करता है ।

 

·         इस सेवा का लाभ *99*99# डायल करके प्राप्‍त किया जा सकता है ।

·         प्रयोक्‍ता जान पाएगा कि उसकी आधार संख्‍या किसी बैंक खाते से जुड़ा लिंक है या नहीं ।

·         यदि हां, तो किसी बैंक से जुड़ा लिंक है और अंतिम बार इसे अद्यतन कब किया गया । 

निम्‍नलिखित चैनलों का प्रयोग आईएमपीएस लेनदेन को शुरू करने के लिए किया जा सकता है ।

·         मोबाइल फोन

·         स्‍मार्टफोन – बैंक एप्‍प/एसएमएस/डब्‍ल्‍यूएपी/यूएसएसडी (एनयूयूपी)

·         बेसिक फोन - एसएमएस/यूएसएसडी (एनयूयूपी)

·         इंटरनेट – बैंक की इंटरनेट बैंकिंग सुविधा

·         एटीएम – बैंक एटीएम पर एटीएम के प्रयोग द्वारा

 

प्रेषक प्राप्‍तकर्ताओं के विवरण प्रविष्‍ट करता है जैसे कि

·         एमएमआईडी और मोबाइल संख्‍या या खाता संख्‍या और आईएफएस कोड या आधार संख्‍या

·         अंतरित की जाने वाली राशि

·         टिप्‍पणियां/भुगतान संदर्भ संख्‍या

·         प्रेषक का एम-पीआईएन

 

दोनों प्रेषक और प्राप्‍तकर्ता को एसएमएस भेजकर पुष्टि की जाती  है। 

मोबाइल फोन पर आईएमपीएस का प्रयोग करने के लिए, ग्राहक को अपने व्‍यक्तिगत बैंक से मोबाइल बैंकिंग के लिए पंजीकृत करना पड़ेगा । तथापि, बैंक शाखा, इंटरनेट बैंकिंग और एटीएम चैनलों का इस्‍तेमाल कर आईएएमपीएस शुरू करने करने के लिए कोई पूर्व मोबाइल बैंकिंग पंजीकरण की जरूरत नहीं है । 

खाताधारक और गैर-खाता धारक दोनों ही प्रकार के ग्राहक आईएमपीएस का फायदा उठा सकते हैं । तथापि, बिना बैंक खाते वाले ग्राहक प्रीपेड भुगतान इंस्‍ट्रूमेंट जारीकर्ता (पीपीआई) की सेवाओं के इस्‍तेमाल से आईएमपीएस लेनदेन शुरू कर सकते हैं । 

जी, हां । ग्राहक एक ही मोबाइल संख्‍या को एक से अधिक खातों से लिंक कर सकता है । तथापि, प्रत्‍येक खाता संख्‍या में विभिन्‍न एमएमआईडी होगा । 

मोबाइल मनी पहचानकर्ता बैंक द्वारा जारी की गई 7 अंक वाली एक संख्‍या है । एमएमआईडी इनपुटों में से एक इनपुट है जिसे जब मोबाइल संख्‍या से जोड़ा जाता है तो निधि अंतरण में सुविधा उपलब्‍ध होता है । मोबाइल संख्‍या  और एमएमआईडी के संयोजन को खाता संख्‍या के साथ अद्वितीय ढंग से जोड़ा जाता है और यह लाभार्थी के विवरणों को पहचानने में सहायता करता है । विभिन्‍न एमएमआईडी को एक मोबाइल संख्‍या से लिंक किया जाता है (कृपया एमएमआईडी को जारी करने के लिए अपने बैंक से संपर्क करें)। 

·        लाभार्थी की मोबाइल संख्‍या और एमएमआईडी का प्रयोग करना

·        लाभार्थी के खाता संख्‍या और आईएफएस कोड का प्रयोग करना

·        लाभार्थी आधार संख्‍या का प्रयोग करना 

बैंक और गैर बैंक निकाय (आरबीआई द्वारा प्राधिकृत पीपीआई) भारत में ग्राहकों को आईएमपीएस दे रहे हैं । सदस्‍य बैंक और आईएमपीएस सेवा प्रदान कर रहे पीपीआई की सूची http://www.npci.org.in/bankmember.aspx पर उपलब्‍ध है । 

नहीं, आईएमपीएस एक तत्‍काल निधि अंतरण सेवा है, भुगतान अनुरोध शुरू करने के बाद भुगतान को रोका या रद्दे नहीं किया जा सकता है। 

जी, हां । ग्राहक को अपने बैंकों के साथ नई मोबाइल संख्‍या अपडेट करने की जरूरत है । 

यदि मोबाइल संख्‍या में कोई बदलाव नहीं होता है तो पुन: पंजीकरण की कोई जरूरत नहीं है, पंजीकरण संबंधी अनुरोध केवल तब किया जाता है जब मोबाइल संख्‍या में बदलाव होता है । 

आईएमपीएस संबंधी लेनदेन 24X7 (चौबीस घंटे) किए जा सकते हैं । इसमें अवकाश वाले दिन भी शामिल हैं । 

ग्राहक अपने संबंधि‍त बैंकों के साथ आईएमपीएस संबंधी शिकायत लॉग कर सकते हैं । 

आईएमपीएस के जरिए प्रेषित धन हेतु शुल्‍क व्‍यक्तिगत बैंकों और पीपीआई के द्वारा निर्धारित किए जाते हैं । कृपया अपने बैंक या पीपीआई से संबंध में में जानकारी लें ।