टोल फ्री
1800114000 OR 14404

समय: राष्ट्रीय अवकाश को छोड़कर सभी दिन(09:30 प्रात से 05:30 मध्याह्न तक )


उपभोक्ता सहायता पोर्टल (संस्करण 2.3)
उत्तर. डिजिटल एड्रेसेबल केबल टेलीविजन प्रणाली (डीएएस) एक केबल टेलीविजन प्रणाली है, जिसमें टेलीविजन चैनलों को एक डिजिटल तथा कूटबद्ध (एन्क्रिप्टेड) स्वरूप में केबल टेलीविजन नेटवर्क के माध्यम से प्रसारित किया जाता है। केवल प्राधिकृत उपयोगकर्ता ही सेट-टॉप-बॉक्स (एस.टी.बी.) और टीवी सेट के माध्यम से चैनल प्राप्त कर सकते हैं। प्राधिकार, सेवाप्रदाताओं द्वारा प्रदान किया जाता है।
उत्तर. डीएएस में मल्टी सिस्टम ऑपरेटर (एमएसओ) तथा उस से जुड़े (लिंक) स्थानीय केबल ऑपरेटर (एलसीओ) सेवा प्रदाता होते हैं। (इसके बाद में केबल ऑपरेटर के रूप में संदर्भित)
उत्तर. यद्यपि, दोनों डिजीटल रूप में सेवा पहुंचाने वाली प्रणाली हैं, डीटीएच सेवा में, टेलीविजन चैनलों को उपभोक्ता द्वारा उसके परिसर में स्थापित एक छोटे डिश एन्टीना का उपयोग करके प्राप्त किया जाता है। तथापि, डीएएस प्रणाली में टेलीविजन सिग्नल उपभोक्ता तक केबल टेलीविजन नेटवर्क के माध्यम से पहुंचते हैं। डी0ए0एस0, इंट्रेक्टिव वैल्यू एडेड सर्विस, त्रिरूपीय संचलित सेवाएं (वीडियो+आडियो+डाटा), ब्राडबैण्ड इत्यादि को एक ही केबल टी0वी0 नेटवर्क के माध्यम से चलाने में सक्षम है।

उत्तर. डीएएस से उपभोक्ताओं को अनेक लाभ होते हैं।

  • उपभोक्ताओं को सभी चैनलों के लिये बेहतर सिग्नल गुणवत्ता प्राप्त होती है।
  • उपभोक्ताओं को चैनलों के अधिक विकल्प प्राप्त होते हैं। डीएएस पर एचडी तथा 3डी चैनल भी प्रसारित किए जा सकते हैं।
  • उपभोक्ता अपनी आवश्यकता के अनुसार चैनलों/बुके का चयन कर सकते हैं तथा केवल चुने गए चैनलों के लिये भुगतान कर सकते हैं।
  • डीएएस प्रणाली में ब्रॉडबैण्ड के साथ ट्रिपल प्ले तथा मूवी ऑन डिमान्ड आदि, जैसी मूल्यवर्धित सेवाओं की भी पेशकश की जा सकती है।
  • डीएएस में उपलब्ध कराई गई इलेक्ट्रॉनिक प्रोग्राम गाईड (ईपीजी) से उपभोक्ता के लिए उपयोगकर्ता अनुकूल पद्धति के माध्यम से किसी विशिष्ट चैनल का चयन करना, आसान हो जाता है।
  • ये विशेषताएं, अन्य सेवाओं से इतर, उपभोक्ताओं को एक बेहतर दर्शन का अनुभव प्रदान करती हैं।
उत्तर. डीएएस में सेवाएं प्राप्त करने के लिए, टेलीविजन सेट के अतिरिक्त एसटीबी नामक एक अतिरिक्त उपकरण लगाया जाना अपेक्षित होता है। यह सेट टॉप बॉक्स, डीएएस के कूटबद्ध (एन्क्रिप्टेड) डिजिटल टेलीविजन सिग्नल को उपभोक्ताओं तक पहुंचाने की सुविधा प्रदान करता है।
उत्तर. केबल ऑपरेटरों द्वारा प्रत्येक सब्सक्राइबर को उसके नेटवर्क पर समय-समय पर यथासंशोधित केबल टेलीविजन नेटवर्क (विनियमन) अधिनियम, 1995 (1995 का 7) की धारा 8 के तहत दूरदर्शन के चैनलों को प्रसारण करना अनिवार्य है। वर्तमान में डीडी-1, डीडी-न्यूज, डीडी-रीजनल (संबंधित रीजन), डीडी-राज्य सभा, डीडी-स्पोर्टस, डीडी-उर्दू, ज्ञानदर्शन तथा लोकसभा जैसे चैनलों को प्रत्येक सब्सक्राइबर को उसके नेटवर्क पर प्रसारित करना अनिवार्य है।
उत्तर. डीटीएच तथा डीएएस दोनों स्वतंत्र सेवाएं हैं। उपभोक्ता के पास दोनों सेवाओं को प्राप्त करने का विकल्प होता है।
उत्तर. सेट टॉप बॉक्स (एसटीबी) एक उपकरण है, जो कि उपभोक्ता के टेलीविजन सेट के साथ जोड़ा जाता है तथा जो उपभोक्ता को उसकी पसंद के कूटबद्ध (एन्क्रिप्टेड) चैनल देखने में सक्षम बनाता है। एसटीबी का मूलभूत कार्य चैनलों को अकूटबद्ध (डीएन्क्रिप्टेड) करके, टेलीविजन सेट पर देखने के लिए डिजिटल सिग्नल को एनॉलाग में बदलना है।
उत्तर. डीएएस में प्रसारित किए जाने वाले टेलीविजन चैनलों को एसटीबी के बिना प्राप्त नहीं किया जा सकता है। एसटीबी अलग (स्टैण्डलोन) यूनिट के रूप में हो सकता है अथवा एसटीबी टेलीविजन सेट में एकीकृत किए गए, रूप में हो सकता है।

उत्तर. केबल ऑपरेटर को सेवा के सब्सक्रिप्शन के समय, एकमुश्त खरीद के तहत अधिग्रहित, किराये पर लेने तथा भाड़ा पर खरीद संबंधी स्कीमों के सब्सक्रिप्शन के समय एसटीबी को वापस करने की निबंधन व शर्तों को विहित करना चाहिए। 
एसटीबी वापस करने के संबंध में निम्नलिखित नियम हैंः-

  • केबल ऑपरेटर को देयताओं को समायोजित करने के उपरांत, प्रतिभूति जमा राशि (यदि कोई हो तो) को वापिस करना होगा।
  • यदि उपभोक्ता केबल ऑपरेटर के सेवा क्षेत्र के अंदर अपना निवास स्थान परिवर्तित करता है तो वह नये पते पर समान निबंधन व शर्तों के तहत एसटीबी उपलब्ध कराने हेतु एक स्थानांतरण वाउॅचर प्राप्त कर सकता है।
  • यदि उपभोक्ता, केबल ऑपरेटर द्वारा उपलब्ध कराई गई सेवा से संतुष्ट नहीं हो तो उपभोक्ता सेवा को छोड़ने के लिए स्वतंत्र है तथा केबल ऑपरेटर को एसटीबी की खरीद के समय विनिर्दिष्ट शर्तों के अनुरूप कटौती करके, उपभोक्ता से एसटीबी वापस करने की अनुमति देनी चाहिए। तथापि, ऐसी कटौती प्रत्येक आधे वर्ष अथवा इसके भाग के लिये 25 प्रतिशत से अधिक नहीं होगी।
उत्तर. यदि उपभोक्ता के निवास स्थान पर एक से अधिक टेलीविजन सेट हों तो उसे प्रत्येक टेलीविजन सेट के लिए अलग-अलग एसटीबी लगाना होगा।
उत्तर. टेलीविजन चैनलों की अ-ला-कार्ट पेशकश का अभिप्राय स्टैण्डअलोन आधार पर पृथक चैनल की पेशकश किये जाने से है। चैनलों के बुके का अभिप्राय अलग-अलग प्रकार के चैनलों का संयोजन से है, जिनको एक समूह तथा बंडल के रूप में पेशकश किया जाता है।.
उत्तर. किसी उपभोक्ता के लिए मासिक प्रभार, उपभोक्ता द्वारा चुने हुए पैकेज/बुके/चैनलों/सेवाओं पर निर्भर होगा। डी.ए.एस. के उपभोक्ता, केबल ऑपरेटर द्वारा उपलब्ध कराए गए पैकेज, बुके, एक या अधिक पे चैनल, केवल फ्री-टु-एयर (एफ.टी.ए.) चैनल, केवल पे चैनल, पे चैनल और एफ.टी.ए. चैनल का चयन कर सकते हैं।
उत्तर. डीएएस प्रणाली में एमएसओ को प्रति कनेक्शन प्रतिमाह 100/- रुपए के अधिकतम खुदरा मूल्य (कर रहित) की दर से 100 फ्री-टु-एयर (एफटीए) चैनलों के पैकेज की पेशकश करनी होगी। उपभोक्ता, एमएसओ द्वारा 100/- रुपए के अधिकतम खुदरा मूल्य (कर रहित) की दर से पेशकश किए जाने वाले बीएसटी के बदले 100 फ्री-टु-एयर चैनलों तक के किसी संयोजन का भी चयन कर सकता है। जबकि, एमएसओ को बुनियादी सेवा टियर की पेशकश करनी होती है, उपभोक्ता के लिये बीएसटी को सब्सक्राइब करना अनिवार्य नहीं है।
उत्तर.  डी0ए0एस0 में, बनियादी सेवा टियर (बीएसटी) के तहत प्रत्येक श्रेणी नामतः समाचार तथा करंट अफेयर्स, इंफोटेनमेंट, स्पोर्टस, किड्स, म्यूजिक, लाईफस्टाईल, मूवीज तथा हिंदी, अग्रेजी एवं क्षेत्र की क्षेत्रीय भाषाओं के सामान्य एंटरटेनमेंट के कम से कम 5 चैनल शामिल किए जाने चाहिए। यदि किसी विशिष्ट श्रेणी के फ्री-टू-एयर चैनल पर्याप्त संख्या में उपलब्ध नहीं है, तो मल्टी-सिस्टम ऑपरेटर बुनियादी सेवा टियर (बीएसटी) में अन्य श्रेणियों के चैनलों को शामिल करेगा। दूरदर्शन के चैनल नामतः डीडी-भारती, डीडी-मलयालम, डीडी-पोढीगई, डीडी-उड़िया, डीडी-बंग्ला, डीडी-सप्तगिरी, डीडी-चंदना, डीडी-सहयाद्री, डीडी-गिरनार, डीडी-काशीर, डीडी-एनई, डीडी-पंजाबी भी बनियादी सेवा टियर के भाग के रूप में होंगे।

उत्तर. एमएसओ द्वारा अ-ला-कार्टे चैनल की दरों तथा बुके की दरों के संबंध में निर्णय लिया जायेगा।
उत्तर. फ्री-टु-एयर चैनलों (एफटीए) का अभिप्राय उन चैनलों से है, जिसके लिए एमएसओ द्वारा केबल पर इसके पुनःप्रसारण करने के लिए प्रसारक को किसी सब्सक्रिप्शन शुल्क का भुगतान नहीं करना होता है। तथापि, उपभोक्ता द्वारा ऐसे चैनलों को प्राप्त करने हेतु ऑपरेटर द्वारा कुछ सब्सक्रिप्शन प्रभार विहित किया जायेगा।
उत्तर. पे-चैनल का अभिप्राय एक चैनल से है, जिसके लिए एमएसओ द्वारा प्रसारक को एक शुल्क का भुगतान किया जाता है तथा केबल पर इसके पुनःप्रसारण हेतु प्रसारक से विधिवत रूप से अनुमति प्राप्त करनी होती है।
उत्तर. जी नहीं, बीएसटी में केवल एफटीए चैनल ही शामिल होते हैं।
उत्तर. उपभोक्ता को सेवा बंद करने के लिए पूर्व नोटिस देना होगा। उपभोक्ता को केबल ऑपरेटर द्वारा उसके परिसर में रखी संपत्ति की रक्षा करनी चाहिए तथा उसे सुरक्षित बनाये रखना चाहिए।
उत्तर. जी नहीं, केबल ऑपरेटर अपने उपभोक्ता 15 दिन को पूर्व नोटिस दिए बिना किसी चैनल को बंद नहीं कर सकता है तथा ऐसे नोटिस को स्थानीय समाचार पत्रों में प्रकाशित कर तथा टेलीविजन स्क्रीन पर स्क्रॉल के माध्यम से प्रदर्शित किया जायेगा।
उत्तर. उपभोक्ता, एमएसओ द्वारा पेशकश की जा रही योजनाओं का ब्यौरा मांग सकता है तथा एमएसओ से सब्सक्रिप्शन एवं एसटीबी की निबंधन व शर्तों की जानकारी मांग सकता है।
  • अ-ला-कार्टे आधार पर चैनल की मांग करना उपभोक्ता का अधिकार है।
  • उपभोक्ता को बिल तथा उसके द्वारा किये गये भुगतान की रसीद प्राप्त होनी चाहिए।
  • उपभोक्ता, एमएसओ द्वारा निर्धारित एक उचित राशि का भुगतान कर प्री-पेड सब्सक्रिप्शन के तहत अपने बिल का ब्यौरा मांग सकता है।
  • उपभोक्ता 15 दिनों का अग्रिम नोटिस देकर 1 माह से 3 माह तक की अवधि के लिए अपनी केबल सेवाएं बंद कर सकता है। उपभोक्ता द्वारा सेवा बंद किये जाने की इस अवधि के दौरान एसटीबी (यदि कोई हो तो) के अलावा किसी सब्सक्रिप्शन प्रभार का भुगतान नहीं करना होगा।
  • उपभोक्ता, सब्सक्रिप्शन के समय, सेवा के लिए नियम पुस्तिका मांग सकता है।
  • उपभोक्ता को उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम, 1986 अथवा वर्तमान में लागू किसी अन्य कानून के तहत अपनी शिकायत का समाधान प्राप्त करने का अधिकार है.