टोल फ्री
1800114000 OR 14404

समय: राष्ट्रीय अवकाश को छोड़कर सभी दिन(09:30 प्रात से 05:30 मध्याह्न तक )


उपभोक्ता सहायता पोर्टल (संस्करण 2.1)
दूरसंचार सेवाओं में - फिक्‍सड लाइन सेवाएं, मोबाइल क्‍नैक्‍शन और इंटरनेट क्‍नैक्‍शन (तार और ताररहित दोनों), शामिल हैं।
टी.आर.ए.आई. अधिनियम, 1997 में यथाधिदेशित के अनुसार भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण (टी.आर.ए.आई.) उपभोक्‍ताओं के हित की सुरक्षा के प्रति प्रतिबद्ध है।

मोबाइल सेवाएं, इलैक्‍ट्रानिक टेलीकम्‍युनिकेशन डिवाइस, किसी सेल्‍युलर फोन अथवा सेल फोन के साथ रेडियो तरंगों अथवा सेटेलाइट ट्रांसमिशन के माध्‍यम से उपयोग किया जाने वाला वायरलेस संचार नेटवर्क है।

एस.एम.एस. : 160 की संख्या तक के शब्‍दों को भेजने के लिए मोबाइल कम्‍युनिकेशन अथवा फोन की टैक्‍स्‍ट मैसेजिंग सेवा का एक घटक है।

एम.एम.एस. : यह मैसेज भेजने का एक मानक तरीका है जिसमें मोबाइल फोन से मोबाइल फोन पर भेजी जाने वाली मीडिया सामग्री शामिल है। यह कोर एस.एम.एस. क्षमता का विस्‍तार करता है। इसके माध्‍यम से ग्राफिक्‍स, वीडियो क्लिपस् और आवाज की फाईले भेजी जा सकती हैं।

वी.ए.एस : .: यह विस्‍तारित सेवा है जो कोर वॉयस और कॉल वेटिंग, कॉल फॉरवार्डिंग, मल्‍टी पार्टी कांन्‍फ्रेन्सिंग, हैलो टयून्‍स, होरोस्‍कोप, जोक्‍स इत्‍यादि जैसी टैक्‍स्‍ट कम्‍युनिकेशन्स को संवर्धित करती है। ऐसी सेवाओं का लाभ उठाने के लिए अतिरिक्‍त लागत देनी होती है।

प्रीपेड मुख्‍यत: मोबाइल सेवाओं के लिए भुगतान करने का तरीका है, जो आप मोबाइल सेवाओं का प्रयोग करने से पहले करते हैं जबकि पोस्‍ट पेड में आप सेवाओं का उपयोग करने के बाद बिल का भुगतान करते हैं।
उत्‍तर- जी, हां। किसी ऑफर के विभिन्‍न टैरिफ प्‍लानों की स्‍पष्‍टता और तुलना के लिए, किसी ट्रैफिक प्‍लान के तहत अनिवार्य सभी मासिक निर्धारित प्रभारों को एक शीर्ष के तहत दर्शाया जाना होगा।
उत्‍तर- जी, नहीं। पोस्‍ट पेड सब्‍सक्राईबर्स को बिल की हार्ड कॉपी देने के लिए प्रभार लेना भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण (टी.आर.ए.आई.) द्वारा निषिद्ध किया गया है।
उत्‍तर- जी, हां। प्री-पेड से पोस्‍ट पेड या पोस्‍ट पेड से प्री-पेड की ओर परिवर्तन करने की अनुमति बिना किसी प्रभार और मोबाइल नम्‍बर बदले बिना दी जा सकती है।
उत्‍तर- टॉक टाइम वैल्‍यू से प्रभावित न होने वाली सेवाओ में - इनकमिंग काल्‍स और एस.एम.एस. शामिल हैं जो टॉक टाइम वैल्‍यू समाप्‍त होने के बाद भी वैधता अवधि तक प्री-पेड सब्‍सक्राईबर्स को मिलती रहेगी।
उत्‍तर- जी, हां। यदि प्रीपेड सब्‍सक्राईबर द्वारा उपयोग के मद वाद ब्‍यौरों के लिए अनुरोध किया जाता है तो सेवा प्रदाता ऐसे ब्‍यौरे देने के लिए तर्कसंगत प्रभार, जो पचास रुपये से अधिक नहीं होगा, वसूल कर सकता है।
उत्‍तर- जी, हां। प्री-पेड खाते में किसी अप्रयुक्‍त बकाये को अग्रानीत किया जा सकता है और यदि सब्‍सक्राईबर इस प्रयोजनार्थ निर्धारित की गई अवधि में रिचार्च कराता है तो इसे क्रेडिट भी किया जा सकता है।
उत्‍तर- जी, हां। इससे कुछ परिवर्तन होता है। जब पी.सी. और मोडम को ऑन रखा जाता है और यदि पी.सी. को इंटरनेट जोड़ा भी नहीं गया हो तो भी सिस्‍टम में इंटरनेट से पैकेट्स की ट्रिकलिंग होती है।
उत्‍तर- जी, हां। वॉयरलैस इंटरनेट क्‍नेक्‍शन के दुरुपयोग होने की संभावना होती है, खास तौर पर यदि इंटरनेट एक्‍सेस वाई-फाई के जरिए प्रदान की जाती है। इससे बचने के लिए सुरक्षित पासवर्ड और यूजरनेम का प्रयोग करके उपयुक्‍त प्रमाणीकरण उपायों का उपयोग करना चाहिए।
उत्‍तर- इसका तात्‍पर्य यह है कि जिन लाइफ टाइम वैधता वाले टैरिफ प्‍लान की पेशकश की गई है वे सेवा प्रदाता के वर्तमान लाइसेंस और नवीकृत लाइसेंस की अवधि के दौरान अंशदाता को प्राप्‍त होता रहेगा।
उत्‍तर- एक बार सेवा प्रदाता द्वारा प्रदान किया गया टैरिफ प्‍लान उस टैरिफ प्‍लान तक अंशदाता के नामांकन की तारीख से न्‍यूनतम छ: माह की अवधि के लिए अंशदाता को उपलब्‍ध होगा।
उत्‍तर- एक टैरिफ प्‍लान को छोड़कर दूसरा टैरिफ प्‍लान लेने के लिए अंशदाता द्वारा कोई प्रभार नहीं देना होता है।
उत्‍तर- नहीं, इनकमिंग कॉल तभी फ्री होती है जब अंशदाता अपने नेटवर्क में हो।
उत्‍तर- नेशनल रोमिंग सेवाएं देने के लिए किसी भी रूप में कोई फिक्‍सड प्रभार/किराया लेने की अनुमति नहीं है।
उत्‍तर- सेवा विनियमों की गुणवत्‍ता में किए गए उपबंधों के अनुसार, कॉल सेंटर द्वारा सेवा में कमी/बाधा संबंधी शिकायतों का निपटान - कोई मानदंड निर्धारित न होने की दशा में 3 दिनों के अंदर और अन्‍य सभी शिकायतों को 7 दिनों के अंदर - किया जाना अपेक्षित है ।
उत्‍तर- मोबाइल नम्‍बर पोर्टेबिलिटी एक सुविधा है जो आपको आपके विद्यमान ऑपरेटर के मोबाइल नंबर अपने पास रखते हुए किसी अन्‍य सेवा प्रदाता की ओर जाने की अनुमति देता है।
उत्‍तर- आप आसानी से सी.डी.एम.ए. को छोड़कर जी.एस.एम. को ले सकते हैं, किंतु आपको अपना हैंडसेट बदलना होगा क्‍योंकि टैक्‍नॉलॉजी भिन्‍न-भिन्‍न है।
उत्‍तर- नया सेवा प्रदाता एम.एन.पी. के लिए शुल्‍क (पोर्ट इन फी) लेगा। टेलीकॉम रेगुलेटरी ऑथोरिटी ऑफ इंडिया (ट्राई) ने इसके लिए सीमा निर्धारित की है।

उत्‍तर- जी, हां। इसके लिए शर्तें निम्‍नलिखित हैं-

  • यदि आप पोस्‍ट-पेड ग्राहक हैं तो विद्यमान सेवा प्रदाता को आपकी कोई देनदारी नहीं होनी चाहिए। प्री-पेड ग्राहकों के सम्‍बन्‍ध में बकाया राशि को आगे नहीं ले जाया जा सकेगा।
  • विद्यमान सेवा प्रदाता की सेवाएं 90 दिन तक प्राप्‍त करने के बाद ही आप नए सेवा प्रदाता का चयन कर सकते हैं।
  • आपको दूसरे नम्‍बर की पोर्टिंग के लिए कम से कम 90 दिनों तक इंतजार करना होगा। यह इस सुविधा के दुरुपयोग और बार-बार अंतरण को रोकने के लिए है।
उत्‍तर- जी, हां। आप आवेदन प्रस्‍तुत करने के 24 घंटों के अंदर उसे वापिस ले सकते हैं तथापि, पोर्ट इन फी वापिस नहीं लौटाई जाएगी।
उत्‍तर- आवेदन प्रस्‍तुत करने के बाद, इसमें अधिक से अधिक चार दिन लगेंगे। जम्‍मू और कश्‍मीर और पूर्वोत्‍तर राज्‍यों में इसमें 12 दिन लगेंगे।
उत्‍तर- जी, हां। नंबर पोर्ट करते समय लगभग 2 घंटे का समय लगेगा। इस अवधि के दौरान आप इस नंबर का प्रयोग नहीं कर सकेंगे। इनकमिंग और आऊटगाईंग दोनो प्रकार की सेवाएं बाधित होगी। पोर्टिंग आधी रात और अगली सुबह प्रात: 5 बजे के बीच की जाएगी। ताकि 2 घंटे की कटौती अंशदाता को अधिक प्रभावित न करे।

उत्‍तर- एम.एन.पी. के तहत नये मोबाइल सेवा प्रदाता के चयन के लिए निम्‍नलिखित प्रक्रिया का अनुपालन किया जाएगा:

  • एक एस.एम.एस. (पोर्ट <स्‍पेस> आपका मोबाइल नम्‍बर) 1900 पर भेजें। तब आपको एस.एम.एस. के जरिए एक यूनिक पोर्टिंग कोड (यू.पी.सी.) के साथ उत्‍तर प्राप्‍त होगा।
  • जहां आप निर्धारित प्रपत्र में इस यू.पी.सी. के साथ शिफ्ट होना चाहते हैं उस सेवा प्रदाता को एक आवेदन दें।(याद रखे यू.पी.सी. कुछ ही दिनों के लिए वैध होती है)
  • नए सेवा प्रदाता द्वारा आपके आवेदन पर कार्रवाई आरम्‍भ की जाएगी और आपको आवेदन प्राप्ति की पुष्टि रसीद और पोर्टिंग की तारीख के ब्‍यौरे प्राप्‍त होंगे। एक बार पोर्टिंग कार्रवाई पूरी हो जाने पर पुष्टि संदेश प्राप्‍त हो जाएगा।